मौसम कि जानकारी कैसे बनती है?

मौसम कि जानकारी ?


दोस्तो आज हम लोग जानेंगे कि मौसम कि जानकारी हमतक कैसे पोहचती हैं. और मौसम का पता कैसे लागते है.

मौसम का पता कैसे लागते है ?

दोस्तो हममेसे बहोत लोगो को शुभह  मौसम कि जानकारी देखनेकी आदत होती. तो कैबार हमारे दिमाग मे एक सवाल आता है कि ये व्हेथेर रिपोर्ट किस तरसे बनती होगी.तो आज ये सवाल का उत्तर  हमलोग जाण हि लेते है.
मौसम कि जानकारी कैसे बनती है?

दोस्तो हमे मौसम की जानकरी अंतरिक्ष मे छोडे गाये उपग्रह (सॅटेलाईट) के वजेसे मिलती हैं. दोस्तो हमलोग  दिन  मी दो-तीन बार तो सॅटेलाईट का उपयोग  करते है जसेकी  TV देखणा , किसीके  फोनकॉल करना, GPS चालना, ईंटरनेट चलाना हो सकता है दोस्तो ये सब चिझे चालणे  के लिये हमे सॅटेलाइट कि आवशकता  होती है. तो दोस्तो मौसम कि जाणकारी निकलनेकेलीये सॅटेलाईट  पे बडे  बडे कॅमेराज लगे होते है जो हमारे पृथ्वी  को पुरी तरीखेस  स्कॅन करते है ओर सथेसे उपर  कि पृथ्वी के फोटोस  निकालते हैं.  इस वजेसे हमारे वैज्ञानिकोको आसनी  होती है मौसम का अंदाज नीलने जेसेकी
मौसम कि जानकारी
दोस्तो हमारे वैज्ञानिक क्या करते हे हवा कि दिशा, बादलो कि दिशा  ,और हमारी धरती  के तापमान के हिसासे मौसम का अंदाज निकालते हैं.


about article

दोस्तो अगर आपका कोईभी सवाल हो तो कॉमेंट मे जरूर लिखना और इस जाणकारी अपने दोस्तो के साथ जरूर शेअर करना. तो चालीये मिलते है अगले पोस्ट में कूच नयी जाणकारया लेकर.

No comments