Saturday, 30 November 2019

सेफ शॉप इंडिया - Safe Shop Business

सेफ शॉप इंडिया - Safe Shop Business



"सेफ शॉप"  ये नाम काफी डिनोसे से चर्चा मे चल है. तो दोस्तो आपके दिमाग मे एक सवाल जरून आया होगा कि ये "Safe Shop" क्या है. तो ये हमलोग आज जाण लेते है. दोस्तो स्वागत हे अपका हमारे एक ओर नये पोस्ट में.

सेफ शॉप क्या है? -  दोस्तो ये सेफ शॉप एक नेटवर्क मार्केटिंग बीसीनेस है.

safe shop india

What is network marketing business?

 दोस्तो नेटवर्क मार्केटिंग एक ऐसा बिसिनेस है कि जिसने आपको अपनी टीम बनाकर काम करना पडता है. इस्मे आगर आपने अपनी टीम बनली ओर आपके टीम मेम्बर ऍक्टिव्ह है तो आपको काई भी काम कार्नेकी जरुरत नाही है क्यूकी आपके टीम मेम्बर जो काम करेंगे ओर उनकी इनकम मेसे कूच हिस्सा आपको मिल जायेगा. तो दोस्तो आपको सेफ शॉप मे भी कुछ इसी तारीखेक काम करना पडता है. इस्के लिये सबसे पेहले Safe Shop को जॉईन करना पडेगा. दोस्तो आयईए  जाणते  है कि सेफ शॉप कैसे  जॉईन करते हैं.
सेफ शॉप इंडिया

How to join safe shop ?

सेफ शॉप कैसे जॉईन करते है? 

दोस्तो इस्मे आपको जॉईन करणे के लिये आपके पास 10,500rs होणे चाहीये दोस्तो आपको इस कंपनीमेसे किसीकोबाही  कॉन्टॅक्ट करना होगा ओर आपके 10,500rs कि कोई चीज  आपको खरीदनी होगी जिससे  आप इस कंपनीमे रजिस्टर हो जाओगे ओर सेफ शॉप जॉईन हो जायेंगे. तो आप सोचेंगे कि इस्मे काम कैसे करना है. तो चालीये अब इसम काम कैसे करना है ये जाण लेते हैं.

सेफ शॉप मे काम कैसे करते है?

दोस्तो जसेकी आपको पता है कि सेफ शॉप एक नेटवर्क मार्केटिंग बिसिनेस है. तो इसलिये  आपको भी इस्मे अपनी  टीम बाणांनी  होती है. आगर अपने आपके नीचे   दो लोगोको जॉईन करावा  दिया  तो आपला एक पेअर बन जायेगा दोस्तो ऐसे पेअर केहेते है. दोस्तो अपने आपके नीचे right or Left  दो लोगो को जॉईन कारवान पडता है सबसे पेहिले आगर अपने Right को जॉईन करावा दिया तो आपको 1000rs  मिलेंगे बदमे आगर अपने लेफ्ट को भी जॉईन करावा दिया तो आपका 1 पेअर बन जायेगा तो आपको 1400rs मिलेंगे ओर आपके right ओर left डोनोमेसे   किसीनेभी आगर अपने नीचे किसीको  जॉईन करावा दिया तो आपको उस्का भी कमिशन  मिल जायेगा ओर उके निचेकेभी  टीम मेम्बरने आगर कोई मेम्बर जोड  दिया याफीर  कोई सामान सेफ शॉप से खरीद लिया तो आपको उसकी साजेसे लाइफटाइम इनकम होती हि रहेगी आगर आपके फॅमिलीमेसे  कोई आपकी जागा पे काम करना चाहे  तो वो भी बिलकुल अपकीही  हि पोस्ट पर काम कर साकेगा. बस आपको इस्मे अपनी अच्चीशी टीम बाणानी है ओर टीम मेम्बर को ऍक्टिव्ह राखना है.मतलब थोडा  बहोत इस्मे काम करणे बोलना है. अपलॊग इस कंपनी  के साथ एक सप्तह का 2 लाख  रुपय तक काम  शकते है एस ये कंपनी दावा कर्ती हैं.
sefe shop kya hai

Safe shop कंपनीके कूच कर्मचारी -

इन्की जाणकारी आप ईंटरनेट पर  देख सकते हैं.

चेअरमन-  आशिष चौहान
सबसे बडे कूच लीडर्स- राज पालन, सिद्धार्थ सेलने, रजत वर्मा, लाल आणण.


ये आर्टिकल इंटरनेट पे दीईगायी जाणकारी के आधार  पर लिखा  गया हैं.


about this article.

दोस्तो आगर आपको ये जाणकारी पसंद आयी हो तो अपने दोस्तो के साथ जरूर शेअर कारना ओर कोईभी सवाल होतो कंमेंट मे जरूर लिखना. चालीये दोस्तो मिळते है आगले पोस्ट मे.

Sunday, 24 November 2019

मौसम कि जानकारी कैसे बनती है?

मौसम कि जानकारी ?


दोस्तो आज हम लोग जानेंगे कि मौसम कि जानकारी हमतक कैसे पोहचती हैं. और मौसम का पता कैसे लागते है.

मौसम का पता कैसे लागते है ?

दोस्तो हममेसे बहोत लोगो को शुभह  मौसम कि जानकारी देखनेकी आदत होती. तो कैबार हमारे दिमाग मे एक सवाल आता है कि ये व्हेथेर रिपोर्ट किस तरसे बनती होगी.तो आज ये सवाल का उत्तर  हमलोग जाण हि लेते है.
मौसम कि जानकारी कैसे बनती है?

दोस्तो हमे मौसम की जानकरी अंतरिक्ष मे छोडे गाये उपग्रह (सॅटेलाईट) के वजेसे मिलती हैं. दोस्तो हमलोग  दिन  मी दो-तीन बार तो सॅटेलाईट का उपयोग  करते है जसेकी  TV देखणा , किसीके  फोनकॉल करना, GPS चालना, ईंटरनेट चलाना हो सकता है दोस्तो ये सब चिझे चालणे  के लिये हमे सॅटेलाइट कि आवशकता  होती है. तो दोस्तो मौसम कि जाणकारी निकलनेकेलीये सॅटेलाईट  पे बडे  बडे कॅमेराज लगे होते है जो हमारे पृथ्वी  को पुरी तरीखेस  स्कॅन करते है ओर सथेसे उपर  कि पृथ्वी के फोटोस  निकालते हैं.  इस वजेसे हमारे वैज्ञानिकोको आसनी  होती है मौसम का अंदाज नीलने जेसेकी
मौसम कि जानकारी
दोस्तो हमारे वैज्ञानिक क्या करते हे हवा कि दिशा, बादलो कि दिशा  ,और हमारी धरती  के तापमान के हिसासे मौसम का अंदाज निकालते हैं.


about article

दोस्तो अगर आपका कोईभी सवाल हो तो कॉमेंट मे जरूर लिखना और इस जाणकारी अपने दोस्तो के साथ जरूर शेअर करना. तो चालीये मिलते है अगले पोस्ट में कूच नयी जाणकारया लेकर.

Saturday, 16 November 2019

What is Ram in hindi || रॅम क्या होता है?

दोस्तो हमलोग जब भी काई नया   स्मार्टफोन  या कॉम्प्युटर लेणे  जाते  है. तो सबसे पहले पता करते है कि उसकी  रॅम कितनी  हैं. और हमलोग येभी सोचते है कि जितनी  ज्यादा  रॅम उताणा  अच्छा  फोन. तो दोस्तो कभी  ना कभी तो एके  दिमाग  में ये सवाल  तो जरूर अया होगा की ये रॅम होती  क्या हैं. तो आज हम याही  जानेंगे कि What is Ram || रॅम क्या होता है in हिंदी



रॅम क्या होता है | What is रॅम
तो दोस्तो सबसे पाहिले हम जाण लेते है कि रॅम क्या होती है. रॅम का फुल्ल फॉर्म होता है रँडम ऍक्सेस मेमरी. दोस्तो समजिये कि आपके पास बहोत  सारा  सामान  है तो आपको असे राखणे  के लिये  उथनी बडी रूम  भी तो चाहिये  होगी तो दोस्तो इस्मे आपका सामान मतलब एकी  मेमरी और रूम मतलब आपका रॅम इस्का मतलब जितनी  बडी रूम उताना ज्यादा सामन इस वाजसे  आपके फोने कि रॅम जितनी ज्यादा बडी होगी उतणा ज्यादा डेटा ऊसपे रन  करेगा.  तो  ये होता है रॅम.

 रॅम क्या होता है?

रॅम किस  तरहके होते  हैं.

वेसे  तो रॅम दो तारीखेके  होते है.

1} स्टॅटिक  रॅम

स्टॅटीक रॅम ये रॅम 6 ट्रान्सिस्टर्स से बना होता है.और इसे बार बार Refresh कारना नही पडता. और इस्कि स्पीड  भी काफी ज्यादा होती है. इस्मे आप आपना डेटा काफी ज्यादा वक्त  सुरक्षित  रक सकते है. इस्मे बॅटरी  भी काफी ज्यादा खर्च  हो जाती है.


2} डायनॅमिक  रॅम

डायनॅमिक रॅम इस रॅम में आपको इसे बार बार रिफ्रेश  कारना पडता हैं. ये रॅम 1 कपॅसिटर  और  1 ट्रान्सिस्टर  सें बनत है. इस्कि Size बहोत छोटी  होती हैं. ईसे चालनेमें  बॅटरी  भी काफी कम खर्च होती हैं.

ram kya hota hai

रॅम का फायदा  क्या होता हैं.?

जातींनी  ज्यादा रॅम उतणी अच्ची  आपके डीवाईस   कि परफॉमस  होगी. ओर ऊस हिसाब  से ज्यादा  रॅम कि वजेसे आपका डिवाइस  भी ज्यादा तेज  काम करेगा.





about article.

तो दोस्तो कैसी लागी आपको ये जाणकारी कंमेंट कारना. ओर कोई सवाल हो तो वो  भी कंमेंट मे जरूर लिखना. ओर इस पोस्ट को अपने दोस्तो के साथ जरूर शेअर किजीयेगा.

Wednesday, 13 November 2019

Whatsapp का new फीचर Figerprint Lock सेटअप अँड इन्फॉर्मशन || हिंदी में

WhatsApp new फीचर  Figerprint Lock.

दोस्तो स्वागत है आपका हमारे नये पोस्ट मे.इस्मे हम जानेंगे Whatsapp के नये फिचर फिगरप्रिंट लॉक (Figerprint lock) के बारेमे. तो चालीये शुरु करते हैं.
Whatsapp figerprint lock

तो दोस्तो आपको इस फिचर को युज करणे के लिये  निचेके पॉईंट्स याद रखे.


1) -  आपको इस फिचर को युज करणे के लिये अपने Whatsapp अप्लिकेशन  को उपडेट करके लेटेस्ट  बीट व्हर्जन 2.19.221 को डाउनलोड  कारना पडेगा.

2) -  आप  इस्को  इक्टिवेट  करते हो तो आपको WhatsApp पर कोई  कॉल  या वीडेओकेल  आये तो आप उसे बिना स्कॅनिंग  के रिसिव्ह  कर सकते हो लेकिन आप किसीका मेसेज बिना फिगर  को स्कॅन  किये  नाही  देख  पायेंगे.

3) -  आप नोटिफिकेशन के माध्यम  से मेसेज देख पायेंगे.

4) -  अगर Iphone कि टच आयडी काम  ना करे तो आप पासवर्ड डालकर अँप को ओपन  कर सकते हैं.

whatsapp



तो दोस्तो ईसे ऍक्टिवेट करणे के लिये सबसे पेहले अपने  WhatsApp के सेटीन्ग्स  मे जना होगा उसके बाद आपको पेहेले ऑपशन अकॉउंट मे जाके  privacy  मे जाणे  के बाद आपको सबसे नीचे मे एक ऑपशन मिलेगा  फ़िगरप्रिंट लॉक बस  उसे आपको ऑन करना है ओर वाहपर  आपको तीन  ऑपशन देखनेको  मिलेंगे  बस उमेसे  एक सिलेक्ट  करना है ओर आपका फ़िगरप्रिंट लॉक हो जायेगा  चालू.


about article.

तो चलिये दोस्तो मिलते है आगले पोस्ट मे कोईभी  सवाल  होतो  कंमेंट  मे जरूर लिखना. ओर इस. पोस्ट को अपने दोस्तो के साथ जरूर शेअर किजीयेगा.

Saturday, 9 November 2019

What is internet || इंटरनेट क्या है ? in hindi

 इंटरनेट क्या है ? History of internet in Hindi 


दोस्तो आपका स्वागत  है आमरे नये पोस्ट मे. इसमें हम जानेंगे  कि इंटरनेट  क्या  है और क्या है इस्का इतिहास  तो चालीये शुरु करते है.🙏🏻👉🏻
what is internet in hindi

history of internet.

तो दोस्तो इंटरनेट कि शुरुवात हुयीती  1962 में जब जेसिया लिकलेदार ने एक संथा बाणाई  थी जिसका  नाम था Darpa.  (  डिफेन्स  ऍडव्हान्स  रिसर्च  प्रोजेक्ट एजनसी ) जिसका एकही  माक्सथ  था कि पुरी  दुनिया  के लोगो  को एकदुसरेसें  जोडना. बदमे  साल  1974 में darpa के दो अधिकारी  वीण  कोब और बॉब कान ने TCP ( ट्रान्समिशन कंट्रोल  प्रोटोकॉल)  का अविष्कार  किया  और ऊस  टाइम  के नेटवरक इंटीग्लेटिंग  NETWERK नाम हो गया आजका आपना इंटरनेट.

what is differce in 3G AND 4G network

लेकिन इसके बाद भी कॉम्पुटर  एकदुसरेसें कनेक्ट करना मुश्किल   था तब 1976 में डॉ. रॉबत  मिलकाप ने अविष्कार  किया एथोनेट copcil  केबल.  इस्की वजसे अब  हम काफी सारे कॉम्प्युटर्स को एक साथ कनेक्ट  कर  शकते  है.

progress of nows internet.

इसके बाद लागो में अब इंटरनेट पॉप्युलर  हो चुका था. और लगबग  16 मिलियन  लोगो इंटरनेट से  कनेक्ट हो चुके  थे  इसके बाद इंटरनेट में और सुधारणा  कि गयी और बन गया हमारा सेकंड  जनरेशन  इंटरनेट मतलब 2G इंटरनेट दोस्तो G का मतलब  होता  है जनरेशन इसी.  तारासे आज  हमलोग  4-5G तक हम लोग पोहच  चुके है और पुरी दुनिया मे से आज 40℅ लोग आज इंटरनेट युज  करणे  लगे  है.

               

history of internet in hindi

about this article.

तो झालीये  दोस्तो कैसी लगी आपको आजाकी जाणकारी  कॉमेंट में जरूर लिखाना तो मिळते  है आगले पोस्ट में.